बेंगलुरु में कैब सर्विस ठप, कैब चालक ने लगाई खुद को आग, महंगा फ्यूल बना कारण

पहले लॉकडाउन ने और अब बढ़ती महंगाई ने लोगों की कमर तोड़कर रख दी है। लगातार बढ़ते पेट्रोल और डीजल के दामों ने तो नाक में दम कर रखा है। जिसके भयावह परिणाम लगातार सामने आ रहे हैं।

लगातार बढ़ती फ्यूल कीमतें कैब चालकों पर भारी पड़ रही है। इसी का परिणाम है कि मंगलवार की रात बेंगलुरु में 35 वर्षीय कैब चालक प्रताप जो कि रामनगरा के रहने वाले थे, उन्होंने इंटरनेशनल एयरपोर्ट के सामने गाड़ी में खुद पर पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह कर लिया था। बड़ी मुश्किल से उनके एक साथी चालक और दमकल केंद्र वालों ने आग पर कंट्रोल पाया और उन्हें अस्पताल ले गए। लेकिन अस्पताल पहुंचने तक प्रताप करीबन 70% तक जल चुके थे। अंततः उन्होंने बुधवार की सुबह दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि प्रताप ने पहले से ही कॉरपोरेशन से लोन ले रखा था जिसे चुकाने के लिए वह काफी ज्यादा परेशान थे। इतना ही नही प्रताप की गाड़ी तक कॉरपोरेशन ने अपने पास रखी है।

इसी घटना को मुद्दा बनाकर समस्त बेंगलुरु कैब सर्विस ने हड़ताल शुरू कर दी और इस प्रकार बेंगलुरु में समस्त ओला, उबर कैब सर्विस ठप पड़ गई।

साथ ही एयरपोर्ट पर ये दिशा-निर्देश भी जारी कर दिए गए कि यहां से अपने गंतव्य स्थान तक जाने के लिए यात्रीगण कैब का इंतजार ना करें या तो यात्री अपने किसी प्राइवेट साधन का इंतजाम कर ले या फिर BMTC की बसों का उपयोग करें।

उधर, कर्नाटक ओला, उबेर ड्राइवर्स एंड ओनर्स एसोसिएशन के चीफ तनवीर पाशा ने दुख जताते हुए कहा कि तेल की बढ़ती कीमतों और महंगाई की वजह से उन्हें अपने लोगों को खोना पड़ रहा है। बीते साल लॉकडाउन की वजह से पहले ही कैब चालक परेशान था। अब महंगे तेल और महंगाई की वजह से जीना दूभर हो गया है। निजी ऑनलाइन सर्विस सस्ती दरों पर लोगों को कैब उपलब्ध करा रही है। लेकिन टैरिफ में बदलाव की वजह से सभी को नुकसान झेलना पड़ रहा है। पाशा ने कहा कि उनकी राज्य सरकार ने मांग थी कि टैरिफ की दरें सभी के लिए एक समान हों, लेकिन उनकी अपील पर कोई विचार नहीं हुआ।

प्रताप की मौत के बाद चालकों ने बेंगलुरु एयरपोर्ट के बाहर प्रदर्शन करके उस फैसले का विरोध किया, जिसमें निजी ऑनलाइन कैब सर्विस लोगों को सस्ती दरों पर सेवा दे रही हैं। उनका कहना था कि महंगे तेल ने पहले से ही कैब चालकों की कमर तोड़ रखी है। इस तरह से काम करना तो उन्हें मार ही देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *