Coronavirus Lockdown अमीर हुए और भी अमीर ! जेफ बेजोस से लेकर मार्क ज़ुकरबर्ग की संपत्ति में हुई इतनी वृद्धि

जैसा कि दुनिया भर के लोग कोरोनोवायरस के आर्थिक प्रभाव से जूझ रहे हैं। अमेरिका में अरबपतियों ने लॉकडाउन के दौरान तगड़ा वित्तीय लाभ देखा है।

दो थिंक टैंकों द्वारा गुरुवार को प्रकाशित एक अमेरिकन फ़ॉर टैक्स फ़ेयरनेस (ATF) और इंस्टीट्यूट फ़ॉर पॉलिसी स्टडीज़ (IPS) की एक रिपोर्ट में पाया गया कि अमेरिका में 600 से अधिक अरबपतियों ने इस साल 18 मार्च से 19 मई के बीच अपने टोटल नेट वर्थ में 15% की वृद्धि देखी, जिस दौरान COVID -19 के कारण अमेरिका को लॉकडाउन के तहत रखा गया था।

रिसर्च स्टडी ने फोर्ब्स के आंकड़ों का विश्लेषण किया और पाया कि अरबपतियों की कुल संपत्ति में $ 434 बिलियन की सामूहिक वृद्धि हुई है, जो कि अवधि के दौरान $ 2.948 ट्रिलियन से $ 3.382 ट्रिलियन तक बढ़ गई है।

इनमें से, शीर्ष पांच अमेरिकी अरबपतियों की संपत्ति – अमेज़न के मालिक जेफ बेजोस, माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स, सोशल मीडिया दिग्गज फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग, बर्कशायर हैथवे के सीईओ वॉरेन बफे और ओरेकल के सह-संस्थापक लारिस एलिसन की टोटल नेट वर्थ – $ 75.5 बिलियन तक बढ़ गई वह भी 19% की बढ़ोतरी के साथ।

रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि पिछले दो महीनों में सभी अमेरिकी अरबपतियों के बीच धन में 21% की वृद्धि हुई है। इसके अलावा, सिर्फ जुकरबर्ग और बेजोस ने मिलकर अरबपतियों के बीच कुल धन वृद्धि का 14% हिस्सा लिया।

कोविड-19 महामारी के दौरान अमेज़न और फेसबुक के शेयरों में वृद्धि होती रही क्योंकि कंपनियां नए उत्पादों और सुविधाओं की घोषणा करती रहीं, जिनका उपयोग लोगों ने लॉकडाउन के दौरान विकल्पों की कमी के कारण किया हैं।

दूसरी ओर, लाखों लोगों ने अपनी नौकरी खो दी क्योंकि वायरस को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लागू किया गया जिसके चलते व्यवसायों को बंद कर दिया गया था। आवास उद्योग और विनिर्माण क्षेत्र में भी संकट के कारण बड़ी मंदी देखी गई।

रिपोर्ट और क्या कहती है?

इन दोनों थिंक टैंक की रिपोर्ट ने शीर्ष पांच अरबपतियों का एक व्यक्तिगत विश्लेषण दिया, जिनमें से फेसबुक के सह-संस्थापक जुकरबर्ग की संपत्ति सापेक्ष रूप से सबसे अधिक बढ़ी है। मार्च में उनके $ 54.7 बिलियन नेट वर्थ में 462% की वृद्धि देखी गई जो कि मई 19 में बढ़कर 80 बिलियन हो गई है। हालांकि, दो महीने की अवधि के दौरान बेजोस ने सबसे बड़ी छलांग देखी, उनकी संपत्ति में $ 34.6 बिलियन डॉलर की वृद्धि हुई।

जबकि बिल गेट्स की कुल संपत्ति $ 8 बिलियन या 8.12% बढ़ी, लैरी एलिसन की संपत्ति में $ 7 बिलियन की वृद्धि हुई, उनकी संपत्ति में 11.9% की वृद्धि हुई। बर्कशायर हैथवे के सीईओ वारेन बफे ने शीर्ष पांच अरबपतियों के बीच पूर्ण और सापेक्ष शब्दों में सबसे कम छलांग लगाई, उनकी कुल संपत्ति में $ 564 मिलियन जोड़कर, 0.18% की वृद्धि के लिए लेखांकन किया।

थिंक टैंकों की रिपोर्ट में आगे फोर्ब्स की सूची का हवाला दिया गया है कि मार्च में जबकि यूएस अरबपति 614 थे, यह आंकड़ा मई तक बढ़कर 630 हो गया, यहां तक कि देश को अधिकांश अवधि के लिए लॉकडाउन के तहत रखा गया था। उसी समय सीमा के दौरान, दोनों थिंक टैंक ने कहा कि अमेरिका में 38 मिलियन से अधिक लोगों ने महामारी के कारण अपनी नौकरी खो दी, जबकि 1.5 मिलियन लोगों को संक्रमण ने पकड़ लिया और 90,000 से अधिक लोगों की मौत हो गई।

जानकारी के लिए बता दें कि अमेरिका में कुल 1.67 मिलियन केस सामने आ चुके हैं जिसमें लगभग 98,000 लोगों की मौत हो चुकी है जिससे दुनिया के इस सुपर पावर देश की विकट परिस्थिति का पता चलता है।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 16 मिलियन से अधिक अमेरिकी भी हैं, जिन्होंने संभवतः अपने नियोक्ता-प्रदान किए गए स्वास्थ्य सेवा कवरेज को खो दिया है, आगे यह देखते हुए कि कम वेतन वाले श्रमिकों, महिलाओं और रंग वर्ग के लोग संयुक्त चिकित्सा की कमी और आर्थिक संकटों के कारण गंभीर रूप से पीड़ित हैं इस समय के दौरान इन लाभकारी अरबपतियों को “अत्यधिक श्वेत पुरुष” कहा गया है जो कि वास्तव में सटीक एवं उपयुक्त भी है क्योंकि माध्यम वर्ग दुनिया के सबसे धनी देश में पिस रहा और गरीबों की गरीबियत बढ़ती ही जा रही है लेकिन इनके हितैषी होने का ढोंग भरा दम भरने यह धनी लोग और भी अमीर होते जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *